Class 5 Hindi Grammar Chapter 8 काल

NCERT Solutions for Class 5 Hindi Grammar Chapter 8 काल (Kaal) ttha kaal ke bhed with examples updated for academic session 2021-2022. Download Hindi Vyakaran for class 5 in PDF file format or use all the grammar contents online free.

There is no need to login to access the contents. All the contents are free to use on Tiwari Academy.

Class 5 Hindi Grammar Chapter 8 Kaal

कक्षा: 5 हिंदी व्याकरण
अध्याय: 8 काल तथा उसके भेद

काल

क्रिया के जिस रूप से कार्य के होने के समय का ज्ञान हो, उसे काल कहते हैं। जैसे- पढ़ता है, पढ़ा था, पढ़ेगा आदि।
राजू स्कूल जा रहा है।
राजू स्कूल गया था।
राजू स्कूल जाएगा।

पहले वाक्य की क्रिया से पता चलता है कि काम हो रहा है। दूसरे वाक्य की क्रिया से पता चलता है कि काम बीते समय में हो चुका है। तीसरे वाक्य की क्रिया से पता चलता है कि काम भविष्य में होगा।
क्रिया के जिस रूप से कार्य के होने के समय का ज्ञान हो, उसे काल कहते हैं। जैसे- पढ़ता है, पढ़ा था, पढ़ेगा आदि।




काल के भेद
काल के तीन भेद होते हैं:

    • 1. वर्तमान काल
    • 2. भूतकाल
    • 3. भविष्यत् काल

1. वर्तमान काल

क्रिया के जिस रूप से चल रहे समय का बोध हो उसे वर्तमान काल कहते हैं। जैसे: पढ़ता है, पढ रहा है आदि।

वर्तमान काल के भेद:

वर्तमान काल के तीन भेद हैं:
(क) सामान्य वर्तमान काल
(ख) अपूर्ण वर्तमान काल
(ग) संदिग्ध वर्तमान काल

(क) सामान्य वर्तमान काल

वर्तमान काल की क्रिया के साधारण रूप को सामान्य वर्तमान काल कहते हैं। जैसे:
1. अनिल स्कूल जाता है।
2. राकेश पुस्तक पढ़ता है।

(ख) अपूर्ण वर्तमान काल

जहाँ वर्तमान काल की क्रिया पूरी न होकर चल रही होती है उसे अपूर्ण वर्तमान काल कहते हैं। जैसे:
1. राम पत्र लिख रहा है।
2. अनिल स्कूल जा रहा है।

(ग) संदिग्ध वर्तमान काल

जहाँ वर्तमान काल की क्रिया के होने में संदेह पाया जाए, उसे संदिग्ध वर्तमान काल कहते हैं। जैसे:
1. अनिल स्कूल जाता होगा।
2. वर्षा होती होगी।

2. भूतकाल:

क्रिया के जिस रूप से बीते हुए समय का बोध हो उसे भूतकाल कहते हैं। जैसे:
(क) मैंने पत्र लिखा था।
(ख) मोहन ने गीत गाया।



भूतकाल के भेद:

भूतकाल के छः भेद हैं:
(क) सामान्य भूत
(ख) आसन्न भूत
(ग) पूर्ण भूत
(घ) अपूर्ण भूत
(ङ) संदिग्ध भूत
(च) हेतु-हेतुमद् भूत

(क) सामान्य भूत

जिस रूप से काम के बीते हुए समय में होना पाया जाए, उसे सामान्य भूतकाल कहते हैं। जैसे:
(अ) श्याम ने पत्र पढ़ा।
(ब) गरिमा ने खाना खाया।

(ख) आसन्न भूतकाल

जहाँ कोई काम भूतकाल में आरंभ होकर अभी-अभी समाप्त हुआ है, यह पता चले उसे आसन्न भूतकाल कहते हैं। जैसे:
(अ) अनिल ने पाठ पढ़ लिया है।
(ब) लड़कों ने फल खाए हैं।

(ग) पूर्ण भूत

जिस रूप से यह पता चले कि काम भूतकाल में पूरा हो चुका है, उसे पूर्ण भूतकाल कहते हैं। जैसे:
(अ) दिव्या ने पुस्तक पढ़ी थी।
(ब) मैं जयपुर गया था।

(घ) अपूर्ण भूत

जिससे यह पता चले कि काम भूतकाल में शुरू हुआ, पर पता नहीं कि वह समाप्त हुआ या नहीं उसे अपूर्ण भूतकाल कहते हैं। जैसे:
(अ) किसान हल चला रहा था।
(ब) स्वाति पुस्तक पढ़ रही थी।

(ङ) संदिग्ध भूत

जिस क्रिया के भूतकाल में करने या होने में संदेह पाया जाए, उसे संदिग्ध भूतकाल कहते हैं जैसे:
(अ) तुमने भी रामायण देखी/पढ़ी होगी।
(ब) बस चली गई होगी।

(च) हेतु-हेतुमद भूत

जहाँ भूतकाल की एक क्रिया दूसरी क्रिया पर आश्रित हो, उसे हेतु-हेतुमद भूत कहते हैं। जैसे:
(अ) यदि वर्षा होती तो फसल अच्छी होती।
(ब) गीता पढ़ती तो पास हो जाती।

3. भविष्यत् काल

क्रिया के जिस रूप से आने वाले समय का बोध हो उसे भविष्यत् काल कहते हैं। जैसे:
हम शाम को खेलेंगे।

भविष्यत् काल के भेद

भविष्यत् काल के दो भेद हैं:
(क) सामान्य भविष्यत्
(ख) संभाव्य भविष्यत्

(क) सामान्य भविष्यत्

क्रिया के जिस रूप से कार्य के भविष्य में होने का बोध हो, उसे सामान्य भविष्यत् काल कहते हैं। जैसे:
(अ) हम शाम को खेलेंगे।
(ब) अनिल पुस्तक लाएगा।

(ख) संभाव्य भविष्यत्

जहाँ भविष्य में होने वाली क्रिया के बारे में संभावना हो, उसे संभाव्य भविष्यत् काल कहते हैं। जैसे:
(अ) शायद कल वर्षा होगी
(ब) क्या मालूम सोहन शाम को आए।

क्रिया के रूप

सामान्य वर्तमान काल
पुरूष एक वचन बहुवचन
उत्तम पुरुष मै जाता हूँ हम जाते हैं
मध्यम पुरुष तू जाता है तुम जाते हो
अन्य पुरुष वह जाता है वे जाते हैं
सामान्य भूत काल
पुरूष एक वचन बहुवचन
उत्तम पुरुष मैं गया हम गए
मध्यम पुरुष तू गया तुम गए
अन्य पुरुष वह गया वे गए



सामान्य भविष्यत् काल
पुरूष एक वचन बहुवचन
उत्तम पुरुष मैं जाऊँगा हम जाएँगे
मध्यम पुरुष तू जाएगा तुम जाओगे
अन्य पुरुष वह जाएगा वे जाएँगे
पढ़ना क्रिया (सकर्मक)
सामान्य वर्तमान काल
पुरूष एक वचन बहुवचन
उत्तम पुरुष मैं पढ़ता हूँ हम पढ़ते हैं
मध्यम पुरुष तू पढ़ता है तुम पढ़ते हो
अन्य पुरुष वह पढ़ता है वे पढ़ते हैं
सामान्य भूत काल
पुरूष एक वचन बहुवचन
उत्तम पुरुष मैंने पढ़ा हमने पढ़ा
मध्यम पुरुष तूने पढ़ा तुमने पढ़ा
अन्य पुरुष उसने पढ़ा उन्होंने पढ़ा
सामान्य भविष्यत् काल
पुरूष एक वचन बहुवचन
उत्तम पुरुष मैं पढूँगा हम पढ़ेंगे
मध्यम पुरुष तू पढ़ेगा तुम पढ़ोगे
अन्य पुरुष वह पढ़ेगा वे पढ़ेंगे
स्मरणीय तथ्य
    • क्रिया के होने के समय को काल कहते हैं।
    • काल के तीन भेद होते हैं: भूतकाल, वर्तमान काल, भविष्यत काल।
    • क्रिया के जिस रूप से उसके बीते हुए समय में होने का पता चलता है, उसे भूतकाल कहते हैं।
    • क्रिया के जिस रूप से उसके उसी समय में होने का पता चलता है, उसे भविष्यत काल कहते हैं।

काल को परिभाषित कीजिये तथा इसके कितने प्रकार हैं?

क्रिया के जिस रूप से कार्य के होने के समय का ज्ञान हो, उसे काल कहते हैं। जैसे- पढ़ता है, पढ़ा था, पढ़ेगा आदि।
राजू स्कूल जा रहा है।
राजू स्कूल गया था।
राजू स्कूल जाएगा।
काल के तीन भेद होते हैं:
(i). वर्तमान काल
(ii). भूतकाल
(iii). भविष्यत् काल

सामान्य वर्तमान काल से आप क्या समझते हैं?

सामान्य वर्तमान काल- वर्तमान काल की क्रिया के साधारण रूप को सामान्य वर्तमान काल कहते हैं। जैसे:
(i). अनिल स्कूल जाता है।
(ii). राकेश पुस्तक पढ़ता है।

सामान्य भूतकाल और आसन्न भूतकाल के अंतर को उद्धाहरण सहित स्पष्ट कीजिये?

सामान्य भूत: जिस रूप से काम के बीते हुए समय में होना पाया जाए, उसे सामान्य भूतकाल कहते हैं। जैसे:
(अ) श्याम ने पत्र पढ़ा।
(ब) गरिमा ने खाना खाया।
आसन्न भूतकाल: जहाँ कोई काम भूतकाल में आरंभ होकर अभी-अभी समाप्त हुआ है, यह पता चले उसे आसन्न भूतकाल कहते हैं। जैसे:
(अ) अनिल ने पाठ पढ़ लिया है।
(ब) लड़कों ने फल खाए हैं।

Class 5 Hindi Grammar Chapter 8 Kaal
Class 5 Hindi Grammar Chapter 8 Kaal




Class 5 Hindi Grammar Chapter 8 Kaal in PDF
CBSE Class 5 Hindi Grammar Chapter 8 Kaal




Class 5 Hindi Grammar Chapter 8
Class 5 Hindi Grammar Chapter 8 Kaal free download




Class 5 Hindi Grammar Chapter 8 Kaal PDF