Class 6 Hindi Grammar Chapter 6 लिंग तथा उसके भेद

Class 6 Hindi Grammar Chapter 6 लिंग (Ling) तथा उसके भेद, कक्षा 6 के लिए हिन्दी व्याकरण अध्याय 6 लिंग – स्त्रीलिंग तथा पुल्लिंग.

Examples related to स्त्रीलिंग and पुल्लिंग, conversion of स्त्रीलिंग to पुल्लिंग or पुल्लिंग to स्त्रीलिंग are given here to understand the chapter properly. All the examples are helpful to know the definition and explanation of the terms. Practice here with suitable definition and examples to score better in school tests and exams.

कक्षा 6 के लिए हिन्दी व्याकरण पाठ 6 लिंग

कक्षा: 6हिन्दी व्याकरण
अध्याय: 6लिंग तथा उसके भेद

लिंग से आप क्या समझते हैं?

लिंग का अर्थ है “चिह्न” अथवा “लक्षण”। शब्द के जिस रूप से यह पता चले कि वह पुरुष जाति का है अथवा स्त्री जाति का, उसे लिंग कहते हैं। हिंदी में लिंग के दो भेद हैं:
1. पुल्लिंग,
2. स्त्रीलिंग

पुल्लिंग
जिस शब्द से किसी प्राणी, वस्तु अथवा भाव के पुरुष-जाति के होने का बोध होता है, उसे पुल्लिंग कहते है।
जैसे- शेर, घोड़ा, हाथी, नाना, कवि, लेखक, लड़का, पिता, भाई, कुत्ता, आदि।

स्त्रीलिंग
जिस शब्द से किसी प्राणी, वस्तु अथवा भाव के स्त्री-जाति के होने का बोध होता है, उसे स्त्रीलिंग कहते हैं।
जैसे- शेरनी, मोरनी, कोठरी, तस्वीर, चिट्ठी, गंगा, गाय, लड़की, लता, अलमारी, कॉपी आदि।




पुल्लिंग की पहचान

नीचे लिखी संज्ञाएँ सदा पुल्लिग होती हैं:

    1. पर्वतों के नाम: हिमालय, कैलाश, विंध्याचल, आल्पस, अरावली आदि।
    2. फलों के नाम: आम, सेब, केला, संतरा, अमरूद, अनानास, चीकू आदि।
    3. महीनों के नाम: सभी भारतीय महीनों के नाम; जैसे- चैत, वैशाख, ज्येष्ठ, आषाढ़, सावन आदि। जनवरी, फरवरी, मार्च, अप्रैल, जून, अगस्त, सितम्बर, अक्तूबर, नवंबर और दिसम्बर।
    4. दिनों के नाम: सोम, मंगल, बुध, बृहस्पति, शुक्र, शनि, रविवार।
    5. समय-सूचक नाम: क्षण, सेकण्ड, मिनट, घंटा, दिन, सप्ताह, पक्ष, माह, वर्ष, युग आदि।
    6. देशों के नाम: भारत, नेपाल, भूटान, थाइलेण्ड, पाकिस्तान, चीन, जापान, रूस, इंडोनेशिया, मालदीव, अमेरिका, फ्रांस आदि।
    7. ग्रहों के नाम: सूर्य, चन्द्र, मंगल, बुध, वृहस्पति, शुक्र, शनि, राहु, केतु, नेपच्यून, प्लूटो आदि (अपवाद-पृथ्वी)
    8. धातुओं के नाम: सोना, पीतल, ताम्बा, लोहा आदि (अपवाद-चाँदी)
    9. वृक्षों के नाम: नीम, बरगद, बबूल, आम, अमरूद, अशोक, ताड़ आदि।
    10. अनाजों के नाम: चावल, गेहूँ, मक्का, बाजरा, चना आदि।
    11. द्रव्य पदार्थों के नाम: तेल, घी, दूध, शर्बत, मक्खन आदि। (अपवाद-कॉफी, चाय आदि)
    12. वर्णमाला के अक्षर: सभी वर्ण पुल्लिंग हैं। (अपवाद-इ, ई ऋ)
    13. समूह के नाम: हिन्द महासागर, प्रशान्त महासागर, अंधमहासागर आदि।
    14. मूल्यवान: पत्थर, रत्न, हीरा, पुखराज, नीलम, गोमेध, प्रभा, मोती, माणिक्य आदि (अपवाद-मणि)
    15. जिन शब्दों के अंत में आपा, खाना, त्व, वाला, पन, ऐरा, आव, आर, दान आदि आते हैं, वे शब्द पुल्लिंग होते हैं।




जिन शब्दों के अंत में “ख”, “ज” और “त्र” आता है, वे पुल्लिग होते हैं।

    • ख-सुलेख, सुख, दुःख, लख, नख, शिख आदि।।
    • ज- पंकज, धीरज, नीरज, जलज, सरोज, सरसिज आदि।
    • त्र- चित्र, पत्र, मित्र, नेत्र, पात्र, चरित्र आदि।

    शरीर के कुछ अंग- सिर, बाल, माथा, नाक, गाल, कान, ओठ, मुँह, दाँत आदि।

स्त्रीलिंग की पहचान

नीचे लिखे संज्ञा शब्द सदा स्त्रीलिंग होते हैं:

    1. चाँदी, नदी, हँसी, बोली, गाड़ी, साड़ी, कॉपी, चिट्ठी आदि।
    2. सजावट, मिलावट, घबराहट, थकावट, बनावट आदि।
    3. इका, नायिका, सेविका, गायिका, लेखिका, पाठिका आदि।
    4. इया, गुड़िया, पुड़िया, चिड़िया, बुढ़िया, बिटिया आदि।
    5. वती बलवती, धनवती, पुत्रवती, सौभाग्यवती आदि।
    • अंत में “अ” वाले तत्सम शब्द: प्रिया, अबला, तनुजा, माला, प्रियतमा आदि।
    • इकारांत तत्सम संज्ञाएँ प्रायः स्त्रीलिंग होती हैं: जैसे- भक्ति, जाति, शक्ति, अग्नि आदि।
    • नित्य (सदा) पुल्लिंग शब्द- कुछ ऐसे शब्द हैं जिनका प्रयोग सदा पुल्लिंग में ही किया जाता है: जैसे- कौआ, उल्लू, खटमल, तोता, मच्छर आदि।
    • नित्य (सदा) स्त्रीलिंग शब्द- कुछ शब्दों का प्रयोग सदा स्त्रीलिंग में ही किया जाता है: जैसे- मैना, मछली, आदि।



पुल्लिंग से स्त्रीलिंग बनाने के नियम

“अ” को “आ” में बदलकर पुल्लिंग से स्त्रीलिंग

पुल्लिगस्त्रीलिंग
वृद्धवृद्धा
श्यामश्यामा
कृष्णकृष्णा
“आ” को “ई” में बदलकर पुल्लिग से स्त्रीलिंग
पुल्लिगस्त्रीलिंग
चाचाचाची
लड़कालड़की
घोड़ाघोड़ी
नानानानी
“अक” को “इक” में बदलकर पुल्लिग से स्त्रीलिंग
पुल्लिगस्त्रीलिंग
भक्षकभक्षिका
लेखकलेखिका
संरक्षकसंरक्षिका



अन्त में “आनी” लगाकर पुल्लिग से स्त्रीलिंग
पुल्लिगस्त्रीलिंग
जेठजेठानी
चौधरीचौधरानी
नौकरनौकरानी
मित्र रूप वाले पुल्लिंग-स्त्रीलिंग शब्द
पुल्लिंगस्त्रीलिंग
पितामाता
बुद्धिमानबुद्धिमती
आयुष्मानआयुष्मती
Class 6 Hindi Grammar Chapter 6 लिंग (Ling) तथा उसके भेद
Class 6 Hindi Grammar Chapter 6 लिंग के भेद
Class 6 Hindi Grammar Chapter 6 लिंग
NCERT Solutions for Class 6 Hindi Grammar Chapter 6 लिंग (Ling) तथा उसके भेद
Class 6 Hindi Vyakaran Chapter 6 लिंग (Ling) तथा उसके भेद
कक्षा 6 के लिए हिन्दी व्याकरण पाठ 6 लिंग तथा उसके भेद