Class 6 Hindi Grammar Chapter 15 प्रत्यय

Class 6 Hindi Grammar Chapter 15 प्रत्यय (Pratyay). We will learn here about प्रत्यय and प्रत्यय के भेद with examples and complete explanation updated for session 2020-2021.

All the facts about प्रत्यय with examples are given here to practice class 6 Hindi Vyakaran chapter 15 Pratyay.

कक्षा 6 के लिए हिन्दी व्याकरण – प्रत्यय

कक्षा: 6हिन्दी व्याकरण
अध्याय: 15प्रत्यय

शब्द निर्माण: प्रत्यय

जो शब्दांश शब्द के अंत में लगकर उनके अर्थ में परिवर्तन या विशेषता उत्पन्न कर देते हैं, उन्हें प्रत्यय कहते हैं।
जैसे:
1. पढ़ + आकू = पढ़ाकू,
2. थक + आवट = थकावट,
3. झगड़ + आलू = झगड़ालू,
4. समाज + इक = सामाजिक
आकू, आलू, आवट और इक शब्दांश के पीछे जुड़कर उनके अर्थ में परिवर्तन ला रहे हैं। यदि इनको ध्यानपूर्वक देखें तो इनका अपना कोई अर्थ नहीं होता। ये तभी सार्थक होते हैं जब किसी मूल शब्द के पीछे जुड़ते हैं।




प्रत्यय के भेद

प्रत्यय मुख्यतः दो प्रकार के होते हैं:
1. कृत् प्रत्यय (क्रिया शब्दों में लगने वाले)
2. तद्धित प्रत्यय (क्रिया से भिन्न शब्दों में लगने वाले)।

कृत् प्रत्यय
जो प्रत्यय क्रिया की धातुओं में लगकर संज्ञा या विशेषण शब्दों का निर्माण करते हैं, वे कृत् प्रत्यय कहलाते हैं। इनके प्रयोग से बनने वाले शब्दों को कृदांत कहते हैं।
जैसे:
चलन, आहट, करनी, भिड़त, देखभाल, झगड़ा आदि।

संज्ञा बनाने वाले कृत् प्रत्यय

प्रत्ययउदाहरणधातु + प्रत्यय
आनउड़ + आनउड़ान
आईलड़ + आईलड़ाई
आपमिल + आपमिलाप

विशेषता बताने वाले कृत् प्रत्यय

प्रत्ययशब्दशब्द + प्रत्यय
आकूपढ़नापड़ाकू
अक्कड़भूलनाभुलक्कड़
अक्कड़घूमनाघुमक्कड़
ऐयागानागवैया
आऊबिकनाबिकाऊ




भाववाचक संज्ञा बनाने वाले कृत् प्रत्यय
    1. अ- चाल, बाढ़, जाँच, झाड़, देखभाल आदि।
    2. अन- चलन, जलन, खान, पान, देन आदि।
    3. आव- घुमाव, पड़ाव, जुड़ाव, ठहराव आदि।
    4. आहट- चिल्लाहट, घबराहट, बिलबिलाहट आदि।
    5. ती – गिनती, घटती, चुकती आदि। कटनी, करनी, भरनी, छंटनी आदि।
कर्तृवाचक संज्ञा बनाने वाले कृत् प्रत्यय
    1. अक्कड़- पियक्कड़, भुलक्कड़, घुमक्कड़ आदि।
    2. आक- उड़ाक, तैराक आदि।
    3. आर- कुम्हार, लोहार, सुनार, मनिहार आदि।
    4. इया- गुनिया, धुनिया आदि।
    5. एरा- कमेरा, लुटेरा आदि।
    6. ओरा- चटोरा, भगोड़ा, आदि।
    7. वाला- बोलनेवाला, खानेवाला, जानेवाला, खिलौनेवाला आदि।
तद्धित प्रत्यय

जो प्रत्यय क्रिया से भिन्न शब्दों अर्थात् संज्ञा, विशेषण आदि के अंत में लगते हैं, वे तद्धित प्रत्यय कहलाते हैं। उनसे बने यौगिक शब्द तद्धितांत कहलाते हैं। जैसे:
कौशल, गरिमा, बाला, किशोरी, भवानी, धार्मिक, बुढ़ापा आदि।

संज्ञा से संज्ञा बनाने वाले तद्धित प्रत्यय प्रत्यय
प्रत्ययउदाहरणधातु + प्रत्यय
आईपंडितपंडिताई
तामानवमानवता
पाठपाठक
इयालोटालुटिया
इयाडिब्बाडिबिया
आरलोहालोहार



संज्ञा से विशेषण बनाने वाले तद्धित प्रत्यय

भूख – भूखा
धर्म – धार्मिक
जंगल – जंगली
रंग – रंगीन

    • विशेषण से संज्ञा बनाने वाले तद्धित प्रत्यय
    • आई- अच्छा – अच्छाई, बुरा – बुराई, ऊँचा – ऊँचाई
    • आहट- कड़वा – कड़वाहट, चिकना – चिकनाहट
    • आस- मीठा – मिठास, खट्टा – खटास
    • ता- लघुता, वीरता
    • गार- मदद – मददगार, खिदमतगार
    • दानी- चूहेदानी, मच्छरदानी
    • पन- काला – कालापन, मोटा – मोटापन, गोरा – गोरापन
स्मरणीय तथ्य
    • उपसर्ग मूल शब्द के आगे लगकर उसके अर्थ में विशेषता या परिवर्तन ला देते हैं।
    • प्रत्यय शब्दों के पीछे लगकर उसके अर्थ में विशेषता या परिवर्तन ला देते हैं।
    • प्रत्यय दो प्रकार के होते हैं- 1. कृत् प्रत्यय, 2. तद्धित प्रत्यय।
    • कभी-कभी दो प्रत्यय एकसाथ आ जाते हैं। जैसे- सामाजिकता – समाज + इक + ता
Class 6 Hindi Grammar Chapter 15
Class 6 Hindi Grammar Chapter 15 प्रत्यय
Class 6 Hindi Vyakaran Chapter 15 प्रत्यय
Class 6 Hindi Vyakaran Pratyay