Class 6 Hindi Grammar Chapter 22 समुच्चयबोधक शब्द

Class 6 Hindi Grammar Chapter 22 समुच्चयबोधक शब्द (Samuchchyabodhak Shabd). Learn here how to use समुच्चयबोधक या योजक शब्द in Class 6 Hindi Vyakaran.

All the contents are updated for academic session 2021-2022. These contents are useful for all the student studying whether in CBSE or UP Board or any other Indian board also. Examples and explanation related to समुच्चयबोधक या योजक शब्द are given here using suitable description.




कक्षा 6 के लिए हिन्दी व्याकरण – समुच्चयबोधक या योजक शब्द

कक्षा: 6 हिन्दी व्याकरण
अध्याय: 22 समुच्चयबोधक शब्द या योजक शब्द

समुच्चयबोधक या योजक शब्द किसे कहते हैं?

जो शब्द, वाक्य के अंशों का वाक्यों को जोड़ने वाले शब्दों को समुच्चयबोधक कहते हैं। निम्नलिखित वाक्यों को ध्यान से पढ़ें-
1. कमल आज विद्यालय नहीं जा सका क्योंकि वह बीमार है।
2. चाचाजी, चाचीजी तथा अंजू को आना था।
इन वाक्यों में क्योंकि शब्द कमल आज विद्यालय नहीं जा सका, और वह बीमार है। इन दो वाक्यों को एवं तथा शब्द चाचाजी, चाचीजी एवं इन दो शब्दों को जोड़ते हैं। अतः समुच्चयबोधक हैं। जैसे-

    1. राजेश विवाह में अधिक खा आया इसलिए अस्वस्थ है।
    2. यदि वंदना चाहे तो अच्छे अंक ला सकती है।
    3. अनामिका ने नेहा को समझाया था परंतु अनामिका नहीं मानी।
    4. यदि पढ़ लेता तो अच्छे अंक लाता।




इन वाक्यों में ‘इसलिए, “यदि”, “तो”, “परंतु” शब्दों ने दो शब्दों और दो वाक्यों को जोड़ने का कार्य किया है। ऐसे शब्द समुच्चयबोधक (योजक) कहलाते हैं।

समुच्चयबोधक के भेद

समुच्चयबोधक शब्दों के मुख्य रूप से तीन भेद होते हैं:

    • संयोजक
    • विभाजक
    • विकल्पसूचक
संयोजक

जो अविकारी शब्द दो या दो से अधिक शब्दों, वाक्यांशों अथवा वाक्यों को जोड़े, वे संयोजक कहलाते हैं। जैसे-

संयोजक शब्द उदाहरण
और राम और लक्ष्मण दोनों भाई थे।
एवं महेश एवं रमेश इकट्ठे रहते हैं।
तो यदि पवन पढ़ लेता तो अच्छे अंक लाता।
तथा माता-पिता तथा गुरुजनों का सम्मान करो।
इसलिए राम ने अधिक मिठाई खाई इसलिए अस्वस्थ है।

इन वाक्यों में “और”, “एवं”, “तो”, “तथा” “इसलिए” शब्द वाक्यांशों या वाक्यों को जोड़ रहे हैं, ये सभी संयोजक हैं।




विभाजक

जो शब्द भेद को प्रकट करते हुए दो शब्दों, वाक्यांशों या वाक्यों को जोड़ते हैं, वे विभाजक कहलाते हैं। जैसे-

विभाजक शब्द उदाहरण
तो गीता पढ़ेगी तो पास हो जाएगी।
परंतु वह निर्धन है परंतु अत्यंत ईमानदार है।
क्योंकि वह देख नहीं सकता क्योंकि वह अंधा है।
तो यदि वह परिश्रम करता तो सफल हो जाता।
लेकिन वह बीमार था लेकिन परीक्षा देने गया।

इन वाक्यों में “तो”, “परंतु”, “क्योंकि” “लेकिन” शब्द भेद दर्शाते हुए भी शब्दों, वाक्यांशों और वाक्यों को मिला रहे हैं। ये सभी विभाजक हैं। इनके अन्य उदाहरण हैं- “या”, “अथवा”, “परंतु”, “लेकिन”, “बल्कि”, “वरन्”, “तो”, “क्योंकि”, “यद्यपि” आदि।

विकल्पसूचक

जो समुच्चयबोधक विकल्प का बोध कराते हैं, उन्हें विकल्पसूचक कहते हैं। जैसे-

विकल्पसूचक शब्द उदाहरण
अन्यथा मेरी बात मान लो अन्यथा पछताओगे।
या तुम आओगे या मैं आऊँ।
नहीं तो पता लिख लो नहीं तो तुम भूल जाओगे।
अन्यथा हमें अब निकलना चाहिये अन्यथा हमें देर हो जाएगी।
अथवा तुम जाओगे अथवा कैलाश जाएगा।

उपर्युक्त वाक्यों में “अन्यथा” और “या” “नहीं तो”, “अथवा” शब्द दो विकल्पों में से एक को ग्रहण करते हैं तथा दूसरे को छोड़ते हैं। अतः ये विकल्पसूचक हैं।

स्मरणीय तथ्य

दो या दो से अधिक शब्दों, शब्दांशों अथवा वाक्यों को मिलाने वाले शब्दों को समुच्चयबोधक कहते हैं। समुच्च्यबोधक तीन भेद इस प्रकार हैं:

    1. संयोजक
    2. विभाजक
    3. विकल्पसूचक
Class 6 Hindi Grammar Chapter 22 समुच्चयबोधक शब्द
CBSE Class 6 Hindi Vyakaran Chapter 22 समुच्चयबोधक शब्द